Knee Pain

Get Rid of Knee Pain in a Natural Way

What is Knee pain? (घुटनों का दर्द)

घुटनों का दर्द आजकल हर घर में रोज सुनाई देने वाला शब्द बन गया है। पहले घुटनों का दर्द 60 वर्ष की उम्र के बाद या किसी किसी को होता था लेकिन आजकल छोटे बच्चों से भी बात कर ले तो यही सुनने मिलता है घुटनों में दर्द है। अब बात आती है यह की:

Why it happens (घुटनों का दर्द क्यों होता है?)

  • जोड़ों (Joints) में किसी प्रकार की चोट लगने से
  • घुटनों के जोड़ (Joints) में जो गेप होता है उसके कम होने से
  • जोड़ (Joints) में घिसाव लगने से
  • सूजन (Swelling) आने से
  • मौच (Sprain) आने से
  • जोड़ (Joints) में अकड़न (Stiffness) आने से
  • मांसपेशियों (Muscles) के अकड़न (Stiffness) से
  • यूरिक एसिड (Uric Acid) बढ़ने से
  • शरीर में वात (Air) अधिक बनने से
  • फ्रैक्चर (Fracture) होने से
  • गठिया (Arthritis) होने से

 

शरीर के जोड़ों (Joints) में लगातार सूजन( Swelling) होने पर गठिया (Arthritis) होता है या कोमल हड्डियां फ्रैक्चर हो जाती है शरीर के जोड़ दो या दो से ज्यादा हड्डियों से मिलकर बनता है कोमल हड्डियां जिन्हें उपास्थि (Cartilage) कहते हैं, जोड़ के चारों ओर उनकी रक्षा के लिए होती है जो दबाव से जोड़ की रक्षा करती है और काम करने में सहायता करती है। जब यह कोमल हड्डियां फैक्चर हो जाती है तो जोड़ की हड्डियां आपस में रगड़ खाने लगती है जिससे उनमें घिसाव, सूजन, दर्द ऐठन होने लगती है और घुटनों में और जोड़ों में दर्द होने लगता है।

लंबे समय से अगर आपको गठिया की शिकायत है तो भी घुटनों में दर्द होता है। जब शरीर में वात और कफ दोनों अधिक मात्रा में लंबे समय से है तो भी घुटनों में दर्द होता है। घुटनों में दर्द निम्न बीमारियों की तरफ इशारा करता है:

  • जोड़ों का दर्द (Knee Pain)
  • गाउट (Gout)
  • घुटने का अर्थराइटिस (Arthritis)
  • रूमेटाइड अर्थराइटिस (Rheumatoid Arthritis)
  • ओस्टियोआर्थराइटिस (Osteoarthritis)
  • ए सी एल टियर (घिसा हुआ लिगामेन्ट) (ACL Tear/Injury)
  • मेनिस्कस टियर (घिसा हुआ कार्टिलेज) (Torn Meniscus)
  • घुटने की चोट (Knee Injury)
  • झटका लगना (Severe Shock/Vibration)
  • मोच (Sprain)


ऊपर बताई गयी बिमारियों के लक्षण:

  • सूजन (Swelling)
  • घुटना गर्म महसूस होना (Unusual Sensation of Heat)
  • घुटने में आवाज (Cracking Sounds)
  • घुटने के जोड़ पर हाथ रखने पर कंपन (Chilling Sensation)
  • चलते समय जोड़ अटकना (Sudden Blockage)
  • एक स्थिति में रहने पर घुटने का काम न करना (Unusual Numbness)
  • जोड़ में अकड़न (Stiffness)
  • चलते-बेढते-सोते हर समय दर्द रहना (Pain While Doing Any Type of Activity)
  • भारतीय टॉयलेट में परेशानी (Problems While Using Indian Type Toilets/Washroom)
  • चौकड़ी ना लगना (Sitting in Squat)
  • सीढ़ी चढ़ते उतरते वक्त  परेशानी (Pain While Using Steps)

 

घुटने की समस्या यूं तो आम समस्या ही है लेकिन लंबे समय तक इसका समाधान ना किया जाए तो यह बहुत बढ़ जाती है कभी-कभी की तो इतनी भी कि आपको घुटनों का प्रत्यारोपण करवाना पड़ता है इसलिए आज ही सजग हो जाइए और शुरूआती परेशानी को ही जड़ से मिटा दीजिए। कायाकल्य नेचर क्योर उदयपुर में घुटनों का सफलतम इलाज बिना किसी दवा के किया जाता है।


घुटनों में दर्द से बचने के उपाय:

  • ज्यादा देर तक एक ही अवस्था में ना रहे (Avoid Being in Single Position for a Long Time)
  • घुटनों का व्यायाम करते रहे (Do Regular Knee Exercises)
  • सुबह रोज घुटनों को सूर्य की रोशनी दे (Provide your Knees with Morning Sunlight Exposure)
  • अपने जोड़ों की स्ट्रेचिंग करते रहे (Do Knee Stretching)
  •  गैस वाली चीजें कम खाएं (Avoid Meals Leading to Gas)
  • अगर आपको दर्द हो तो खट्टी चीजें ना खाएं (Avoid Salt or Salty Items)
  • खाने में विटामिन-डी, विटामिन-ई, और कैल्शियम का खास ध्यान रखें (Intake Foods Rich in Vitamin-D, Vitamin-E & Calcium)
  • अपने जोड़ों की मालिश करें (Give a Good Massage to your Knees)
  • मीठा,जंक फूड, तला हुआ खाना कम खाएं (Avoid Sweet, Junk and Oily/Processed Foods)
  • रात के समय में दाल व दाल के किसी भी प्रकार को ना खाएं (Avoid Eating Pulses/Food Containing Pulses in Dinner)
  • यूरिक एसिड ना बढ़ने दे (Maintain Your Uric Acid)
  • पानी हर 1 घंटे में एक ग्लास पीने की आदत डालें (Drink 1 Glass of Water Every Hour)
  • वजन नियंत्रित रखें (Maintain Your Weight)


कुछ घरेलू नुस्खे (Practice Home Remedies):

  • लहसुन की कुछ कलियों (Garlic Cloves) को कूटकर (Grind) सरसों (Mustard Oil) के एक चम्मच तेल में मिलाकर घुटनों पर लगाए आधे घंटे (Half Hour) बाद गर्म पानी (Lukewarm Water) से धो लें।
  • रोज रात को सोने से पहले गर्म पानी (Lukewarm Water) में पैरों को 15 मिनट रखें (Sink)।
  • रोज हल्दी वाला दूध (Turmeric Milk) पिए।
  • हल्दी (Turmeric) व चूने (Lime) को सरसों के तेल (Mustard Oil) में लेप (Paste) बनाकर घुटनों पर लगाए। आधे घंटे बाद धो लें।
  • घुटनों की गरम ठंडी सिकाई (Hot & Cold Compress) करें।
  • मेथी की खिचड़ी खानी चाहिए (Fenugreek Rice)।

 

अगर इन सब के बावजूद भी आपको घुटनों का दर्द परेशान कर रहा है तो आज ही आइये कायकालय नेचर क्योर उदयपुर के पास जो आयुर्वेदिक विधि से देता है Panchakarma Treatment in Udaipur, जिससे आपकी इस समस्या को बिना किसी दवाई के प्राकृतिक तरीके से ठीक किया जा सकता है।

Leave a Reply