Treating Prostate Problems Naturally

How to Cure Prostate Problems Naturally?

Prostate (प्रॉस्टेट) Problem

 यह समस्या 45 की उम्र के बाद पुरुषों में देखने को मिलती है। अगर समय पर इसका समाधान ना किया जाए तो यह कैंसर का रूप ले लेती है।

Prostate Treatment in Udaipur, Rajasthan कायाकल्या नेचर क्योर में बिना दवाओं के किया है।

 

What is the Prostate?

Prostate का Normal Weight २० ग्राम होता है। पुरुषों की पेशाब की थैली (Urinary Bladder) तिकोनी (Triangular) होती है इस थैली के नीचे मूत्रनली (Urinary Tract) होती है। मूत्रनली के चारों ओर प्रॉस्टेट ग्रंथि (Prostate Gland) होती है। इस ग्रंथि (Gland) का कई कारणो जैसे की आंतरिक कारण व बाह्य कारण से आकार बढ़ जाता है, या फ़ुल (Swelling) जाता है। जिससे मूत्रनली पर दबाव पड़ता है। ओर तरह-तरह के मूत्र सम्बंधित विकार (Urinary Problems) उत्पन्न हो जाते है। जिसे हम प्रास्टेट ग्रंथि का बढ़ना कहते है, जिसे BPH (Benign Prostatic Hyperplasia) बोलते है।

 

What is the role of Prostate?

What is the role of Prostate?

प्रास्टेट ग्रंथि तरल पदार्थ (हार्मोन) बनाती है। यह तरल पदार्थ मूत्र नली के रास्ते संभोगिग क्रिया (Sexual Intercourse) के दोरान संखलन (Orgasm/Aggregation) के दोरान जो वीर्य शुक्राणु (Sperm) निकलते है उनके साथ मिलकर मूत्रनली में आकर पेशाब के रास्ते बाहर निकलते है।

मगर जैसे जैसे पुरुषों की उम्र ४५ (45) से ऊपर बढ़ने लगती है वैसे वैसे आंतरिक ओर बाह्य कई कारणो से प्रास्टेट ग्रंथि का आकार बढ़ने लगता है। जिसे प्रास्टेट का बढ़ना कहते है। प्रास्टेट ग्रंथि के बढ़ने से मूत्रनली के ऊपर दबाव पड़ता है। जिससे मूत्रनली से निकलने वाले मूत्र का प्रवाह (Urine Flow) कम हो जाता है, मूत्र में रुकावट आती है, पेशाब बूँद बूँद करके आता है, मूत्र त्यागने के बाद दर्द होता है। कई बार प्रास्टेट ग्रंथि के बढ़ने के कारण पेशाब की थैली में संक्रमण (Infection) हो जाता है या उसके ऊपर गुर्दे (Kidney) तक जो नली जा रही है उस नली में, एवं गुर्दों में भी संक्रमण देखा जाता है। बहुत से रोगियों को प्रास्टेट बढ़ने के बाद पेशाब में दिक़्क़त आती है समय रहते ध्यान ना देने से ये दिक्कत इतनी बढ़ जाती है की नलकी (Tube/Catheter) लगानी पड़ती है। या कई बार तो ऑपरेशन (Surgery) भी करवाना पड़ता है। अगर आप भी ऐसी ही किसी परेशानी का सामना कर रहे हैं तो आज ही BPH Treatment in Udaipur (Benign Prostatic Hyperplasia) के सफलतम इलाज के लिए के Kayaklya Nature Cure के पास आये और बिना किसी अंग्रेजी दवा का ऑपरेशन के इस परेशानी से आज़ादी पाएं।

 

Symptoms of Prostate Problems / BPH (Benign Prostatic Hyperplasia)

अगर आपको:

  • बार बार पेशाब आता है (Frequent Urination)
  • कम प्रवाह से आता है (hypouria/Irregular Flow of Urine)
  • बूँद बूँद करके टपकता रहता है (Drop-by-Drop Flow of Urine)
  • पेशाब पर नियंत्रण नही रहता (Urinary incontinence)
  • पेशाब करने से पहले, करने के बाद ओर करते समय दर्द रहता है (Burning Urination/Dysuria)
  • पेशाब के साथ मल त्याग की इच्छा (Urge for Bowel Movement)
  • बदबू आना (Urine Odor)
  • खून आना (Blood in urine/Hematuria)
  • ज़ख़्म होना, आदि (Soreness in Urinary Tract/Private Part)

जैसे कोई भी लक्षण है तो तुरंत जाँच करवाए ओर जल्द से जल्द इसे Ayurvedic Treatment in Udaipur के साथ ठीक करे। यह बिना दवाओं के Kayakalya Nature Cure Udaipur के पास ठीक हो सकता है।

 

Why Prostate Problems Persist?

  • मेल हार्मोन कम बनने के कारण (Low Testosterone Production)
  • पित्त ज्यादा बनने के कारण (Excess Bile)
  • गुर्दे में स्टोन होना (Kidney Stone)
  • तला हुआ खाने से (Excessive Intake of Fried Food)
  • शराब/ धूम्रपान (Smoking/Drinking)
  • व्यायाम ना करना (Not Exercising)
  • तनाव (Tension)
  • हार्मोन असंतुलन (Hormonal imbalance)
  • मधुमेह (Diabetes)
  • मोटापा (Obesity) आदि।


How to Cure Prostate Problems? (समाधान)

How to Cure Prostate Problems?

  • मक्के के बाल (Corn Hair) 1 ग्लास पानी में उबाले (Boil) ओर दिन में तीन बार (3 Times a Day) पिए।
  • 2 कप मूली (Radish)) के रस में 2 चम्मच शहद (Honey) मिलाकर सुबह ख़ाली पेट (On Empty Stomach) लेना चाहिए।
  • कद्दू (Pumpkin) के बीज (Seeds) 1 ग्लास उबले पानी (Boiled Water) में भिगोकर (Soaked) 30 मिनिट छोड़ना है ओर छानकर (Filter) पीना है।
  • मूली का रस (Radish Juice) 20 ml + खीरे का रस (Cucumber Juice) 20 ml + अदरक 1/2 इंच + सेंधा नमक (Rock Salt) स्वाद अनुसार सुबह ख़ाली पेट (On Empty Stomach), दोपहर खाने से पहले (Before Lunch), रात खाने से पहले (Before Dinner) लेने से आराम मिलता है।
  • गर्म-ठंडे पानी (Warm-Cold Water Compress) से 20 मिनिट तक निचले पेट (Lower Abdomen) की सिकाई (Compress) करनी चाहिए।
  • कटी स्नान (Hip-Bath/Bath Till lower Abdomen) लेना चाहिए।
  • कच्ची सब्ज़ियाँ ओर फल (Raw Vegetables and Fruits) खाने चाहिए।
  • पानी हर घंटे से 1 गिलास पीना चाहिए (1Glass of Water per Hour)।
  • व्यायाम करना चाहिए (Regular Exercises)।
  • मेडिटेशन (Meditation) योग (Yoga) करना चाहिए।


हर रोज़ हम कईं तरह की बिमारियों के बारे में सुनते है व देखते हैं व इससे बचाव के उपाए ढूंढते हैं। लेकिन कुछ बिमारियों के चपेट में हम भी आ जाते है अथवा इससे छुटकारा पाने के कई इलाज भी ढूँढ़ते है व करवाते है। अगर आप भी Prostate Problems जैसी बीमारी की गिरफ्त में है तो निश्चिन्त हो कर आज ही आएं Kayakalya Nature Cure में और करवाएं
Naturopathy Treatment in Udaipur वह भी बिना किसी दवा या ऑपरेशन के।

Leave a Reply