how to treat thyroid naturally

What is Thyroid? How to Treat it Naturally?

इस भागदौड और तनाव भरी जिन्दगी मे शरीर पर ध्यान ना देने खानपान के बिगड़ने से हार्मोन (Hormone) मे भी बदलाव आता है और हम रोग ग्रस्त (Diseased) होने लगते हैं। ऐसे ही रोगो मे एक आम रोग थायराइड (Thyroid) भी है जो आजकल हर घर मे मिल जाता है। लेकिन साथ ही साथ इसका सफल एवं प्राकृतिक इलाज (Naturopathy Treatment in Udaipur) भी उपलब्ध है केवल Kayakalya Nature Cure के पास।

 

What is Thyroid? (थायराइड क्या है?)

थायराइड एक तितली के आकार (Butterfly Shaped) की ग्रन्थि (Gland) होती है जो कि स्वास नली (Wind Pipe/Endotracheal Tube) के आगे स्वर यन्त्र (Vocal Cord) के नीचे उपस्थित होती है। यह हार्मोन (Hormone)  शरीर के कामकाज को नियंत्रित करता है।

थायराइड ग्रन्थि (Thyroid Gland) थायराॅक्सिन टी 4 (Thyroxine T4), ट्राईआयोडोथायरोनिन टी 3 (Triiodothyronine T3), हार्मोन का स्त्रावण (Discharge) करती है। थायराइड विकार (Thyroid Disorder) उत्पन्न होने पर तीन हार्मोन का उपयोग किया जाता है।

  1. TSH (Thyroid Stimulating Hormone): थायराइड उत्तेजक हार्मोन पिट्यूटरी ग्रंथी (Pitutary Gland) द्वारा स्त्रावित (Discharge) होता है। यह थायराइड हार्मोन टी3, टी4 के स्त्रवण (Discharge) को नियंत्रित करता है। 
  2. टी4 थायराक्सिन हार्मोन (T4 Thyroxine Hormone): यह प्रोटीन संश्लेषण (Protien Synthesis) को स्त्रावित (Discharge) करता है। 
  3. टी3 ट्राईआयोडोथायरोनिन (T3 Triiodothyronine Hormone): टी3 के समान है। किन्तु अधिक शक्तिशाली होता है।

 

Role of Thyroid Hormone

 

natural treatment of thyroid


थायराइड हार्मोन का काम:

  • थायराक्सिन हार्मोन प्रोटीन (Protein), कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrate) के चयाचय (Metabolism) को नियंत्रित (Control) करता है। 
  • थायराइड हार्मोन हड्डियों (Bones), लैंगिक (Sexual), तथा मानसिक वृद्धि (Mental Growth) को नियंत्रित (Control) करता है। 
  • ह्दयगति (Heartbeat) ओर रक्तचाप (Blood Pressure) को नियंत्रित (Control) रखता है। 
  • महिलाओ मे दुग्धस्त्राव (Lactation) को बढाता  है। 
  • रक्त में चीनी (Blood Sugar), कोलेस्ट्राल (Cholestrol) तथा फॉस्फोलिपिड्स (Phospholipids) की मात्रा को कम करता है।

 

Types of Thyroid

थायराइड के प्रकार:

1) थायराइड ग्रंथी की अतिसक्रियता (Hyperthyroidism)

2) अल्पसक्रियता (Hypothyroidism)

Hyperthyroidism:

थायराइड ग्रंथी के अधिक सक्रिय (Ove-Active) होने के कारण टी3, टी4 आवश्यकता से अधिक हार्मोन बनाने लगते हैं। जिससे शरीर भी अधिक ऊर्जा का उपयोग करने लगता है।

Hyperthyroidism के लक्षण (Symptoms):

  • मेटाबोलिज्म बढना (Increased Metabolism)
  • अधिक पसीना (Excessive Sweating)
  • चिड़चिड़ापन (Irritability)
  • हाथो का कांपना (Hand Tremors)
  • घबराहट (Nervousness)
  • बालो का झड़ना (Hairfall)
  • अनिद्रा (Insomnia)
  • शरीर में दर्द रहना (Body Aches)
  • वजन घटना (Weight Loss)
  • दिल की धड़कन बढ़ना (Increased Heartbeat)
  • महिलाओ मे मासिक धर्म की अनियमितता (Menstrual Irregularity in Women)
  • कैल्शियम की कमी (Calcium Deficiency)
  • साँस फूलना (Shortness of Breath)
  • अधिक प्यास लगना (Excessive Thirst)
  • आँखों में सुखापन (Dry Eyes)

Hypothyroidism: थायराइड ग्रंथी (Thyroid Gland) का कम सक्रिय (Under-Active) होना।

Hypothyroidism के लक्षण (Symptoms):

  • मेटाबोलिज्म कम होना (Decreased Metabolism)
  • थकान (Tiredness)
  • शरीर में दर्द (Body Aches)
  • अकड़न (Stifness)
  • तनाव (Tension)
  •  पसीने की कमी (Lack of Sweating)
  • सर्दी अधिक लगना (Excessive Cold/Chills)
  • नाखुन का पतला होना और टूटना (Thinning and Cracking of Nails)
  • त्वचा में रुखापन, खुजली (Skin Dryness & Itching)
  • बालो का झड़ना (Hairfall)
  • कब्ज (Constipation)
  • बार बार भूलना (Dementia)
  • सूजन (Swelling)
  • कोलेस्ट्रॉल बढ़ना (High Cholestrol)
  • मासिक धर्म की अनियमितता (Menstrual Irregularity in Women)
  • गला बैढना (Strangulation)

 

Causes of Thyroid Disease:

causes of thyroid


थायराइड रोग के कारण:

  • आहार मे आयोडीन का कम ज्यादा होना (Irregular Proportion of Iodine in Diet)
  • हार्मोन का असंतुलन (Hormonal Imbalance)
  • टॉक्सिन्स (Toxins)
  • आनुवंशिक (Genetic)
  • गर्भावस्था (Pregnancy)
  • थायराइड ग्रंथी मे गांठ (Lump in Thyroid Gland)
  • पीयूष एडिनोमा (Pitutary Adenoma)
  • सिर मे चोट (Head Injury)
  • डायबिटीज (Diabetes)
  • जीवन शैली (Lifestyle)
  • थायराइड कैंसर (Thyroid Cancer): सही समय पर ध्यान ना दिया जाए तो थायराइड कैंसर होने की संभावना रहती है।

लक्षण (Symptoms):

  • सामान्य साँस संबंधित रोगों के लक्षण (Common Respiratory Diseases)
  • गांठ का तेजी से बढ़ना (Rapid Growth of Lump)
  • गले में सूजन (Sore Throat)
  • आवाज मे बदलाव (Change in Voice)
  • खाना खाने मे दिक्कत (Difficulty in Eating)
  • साँस लेने मे परेशानी (Trouble Breathing)
  • लगातार खांसी (Persistent Cough)

 

How to Cure Thyroid Naturally (समाधान)

वैसे तो लोग अपनी बिमारियों के लिए अंग्रेजी दवाइयां एवं हाई डोज़ मेडिसिन्स का उपयोग करते है लेकिन आपको जान कर अच्छा लगेगा की इसका प्राकृतिक इलाज (ayurvedic treatment in Udaipur) भी उपलब्ध है। बिना किसी दवाइयों या ऑपरेशन के इसे आसानी से ठीक किया जा सकता है। इसलिए आज ही Best Naturopathy Clinic in Udaipur, Kayakalya Nature Cure के पास आएं।

  • जीवन शैली में बदलाव (Change in Lifestyle)
  • संतुलित आहार (Balanced Diet)
  • नियमित व्यायाम (Regular Exercises)
  • तनाव मुक्त जीवन जिए (Live Stress Free Life)
  • 2 चम्मच तुलसी के रस में ऐलोवेरा के रस को मिलाकर पीए (Drink 2 teaspoons of basil juice mixed with aloe vera juice)
  • मूलेठी का पानी पीए (Drink licorice water)
  • हरे धनिये की चटनी खाये या पानी मे घोल कर पिये (Eat green coriander chutney or drink it mixed with water)
  • लौकी के ज्यूस पिना चाहिए (Drink Bottle Gourd/Calabash Juice)
  • रोज एक चम्मच अलसी का पाउडर खाये गर्म पानी के साथ (Daily 1 Teaspoon Flaxseed Powder with Warm Water)
  • हरी सब्जियां खाये (Eat Green and Leafy Vegetables)
  • फलो ओर कच्ची सब्जियां का उपयोग करे (Eat Fruits and Raw Vegetables)
  • योगासन करे (Do Yoga Regularly)

 

हर रोज़ हम कईं तरह की बिमारियों के बारे में सुनते है व देखते हैं व इससे बचाव के उपाए ढूंढते हैं। लेकिन कुछ बिमारियों के चपेट में हम भी आ जाते है अथवा इससे छुटकारा पाने के कई इलाज भी ढूँढ़ते है व करवाते है। अगर आप भी Thyroid जैसी बीमारी की गिरफ्त में है तो निश्चिन्त हो कर आज ही आएं Kayakalya Nature Cure में और करवाएं Naturopathy Treatment in Udaipur वह भी बिना किसी दवा या ऑपरेशन के।

Look Through: How to Cure Prostate Problem Naturally by Kayakalya