Treating Ulcerative Colitis Naturally

Natural Treatment for Ulcerative Colitis (आंतों मे सूजन)

आंतों मे सूजन (Swelling of Intestines) आना एक दिन का काम नहीं इसमे सालों लगते हैं, आंतों मे सूजन हमारे खराब खानपान (Unhealthy Eating Habits) और जीवन शैली (Lifestyle) कि वज़ह से होती है। हमारा खराब खानपान की वज़ह से सारा खाना पच (Digest) नहीं हो पता है। और धीरे धीरे आंतों मे गंदगी (Excreta/Waste) और रुकावट (Blockage) होने लगती हैं। ये गंदगी हमारे आंतों के जीवाणु (Good Bacterias) पर असर डालती हैं। परैस्टालसेस मूवमेंट (Peristalsis Movement) को कम कर देती है। जिससे हमारा पाचन (Digestion) खराब हो जाता है और आंतों मे घाव सूजन (Blood Clot (Wound)/Swelling) आने लगती है। अगर आप भी किसी ऐसी ही तकलीफ से गुज़र रहे है तो निश्चिंत हो कर Kayakalya Nature Cure के पास आएं और करवाएं Panchakarma Treatment in Udaipur

How Swelling of Intestine can Cause Damage to your Body?

आंतों मे सूजन आना और लंबे समय तक रहना अल्सर का कारण बनता है। और हमारी बड़ी आंतों (Large Intestine) और मलाशय (Rectum) को प्रभावित (Affect) करता है। और धीरे धीरे अल्सरेटीव कोलाइटिस (Ulcerative Colitis) मे बदल जाता है। इसके लक्षण बहुत जल्दी सामने नहीं आते हैं। यह धीरे-धीरे सामने आते हैं। हमे इसके लिये लापरवाही नही करनी चाहिए क्यूंकि हमारी लापरवाही हमे आंतो के कैंसर (Colon Cancer) की तरफ ले जाती है। जो कि हमारे जीवन के लिए खतरनाक (Life Threatening) साबित होती है।

कायाकल्य नेचर क्योर (Kayakalya Nature Cure Udaipur), उदयपुर मे अल्सरेटीव कोलाइटिस (Ulcerative Colitis) का सफलतम इलाज (Successful Colon Treatment in Udaipur) किया जाता है वह भी बिना किसी दवा (Drugless) के।

 

आंतों मे सूजन के लक्षण (Symptoms of Swelling in Intestine):

Swelling in Intestine

 

  • बार बार दस्त लगना (diarrhea) 
  • दस्त मे खून या मवाद आना (blood or pus in diarrhea)
  • पेट दर्द रहना (constant stomach ache)
  • पेट मे जलन (burning sensation in stomach)
  • गुदा मे दर्द रहना (Pain in anus)
  • बार-बार मल त्याग की इच्छा होना (frequent bowel movements)
  • थकान (Tiredness)
  • वजन घटना (weight loss)
  • जलन रहना (burning sensation)
  • बुखार (fever)
  • इच्छा के बावजूद शोच करने मे असमर्थता (inability to defecate in spite of desire)
  • बालो का झड़ना (hairfall)
  • चक्कर आना (dizziness)
  • लिवर मे सुजन (swelling in liver)
  • किडनी की समस्या (kidney problems)
  • गैस (gas)
  • मुँहासे (acne)
  • अनिद्रा (insomnia)
  • तनाव (stress)

 

आंतों मे सूजन के कारण

  • रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होना (decreased immunity)
  • खराब खानपान (bad eating habits)
  • अवसाद/ तनाव (depression/stress)
  • ज्यादा देर भूखे रहना (staying hungry for a long time)
  • कब्ज रहना (constipation)
  • आनुवांशिक कारण (genetic cause)
  • पानी कम पीना (drinking less water)
  • फल व सलाद ना खाना (not eating fruits and salad)
  • व्यायाम ना करना (not doing exercises)
  • खराब दिनचर्या (bad routine)
  • बिना भूख खा लेना (eat without hunger)
  • अत्यधिक दवाओ का सेवन (excessive medicinal use)

 

आंतों मे सूजन के निदान (Diagnosis)

  • जांच (diagnosis/test)
  • ब्लड टेस्ट (blood test)
  • मल टेस्ट (stool/urea test)
  • कोलोनो स्कोपी (colonoscopy/gastric treatment in Udaipur)
  • फ्लैक्सिबल सिग्मोइडोस्कोपी (flexible sigmoidoscopy)
  • सीटी स्कैन (CT scan)
  • एक्सरे (X-Ray)
  • आंतों मे सूजन से बचाव (prevention of intestinal inflammation)
  • फैट वाला खाना कम खाना (low fat food)
  • दिन भर मे थोड़ा थोड़ा करके खाना (small meals throughout the day)
  • पानी अत्याधिक मात्रा में मगर थोडा थोडा करके पिना (drink plenty of water but in small quantities)
  • फाइबर युक्त भोजन खाये (eat fiber rich food)
  • दूध कम पीना (drink less milk)
  • कार्बोनेटेड पेय पदार्थ से दूरी (abstaining from carbonated beverages)
  • तरल पदार्थ का सेवन अधिक मात्रा मे (excessive fluid intake)
  • जल्दी पचने वाला भोजन करे (eat food that digest quickly)
  • चाय काफी का सेवन ना करे (don’t drink enough tea/coffee)
  • आंतों मे सूजन की जटिलताये (complications of Intestinal Inflammation)
  • अत्यधिक रक्तस्राव (excessive bleeding)
  • अत्यधिक पानी की कमी (excessive dehydration)
  • आंतों मे छेद (hole in the intestines)
  • खून मे थक्को के बनने की संभावना (possibility of blood clots)
  • शरीर में सूजन (body swelling)
  • मुँह में छाले (mouth ulcers)
  • आंतों का कैंसर (colon cancer)
  • आंतों मे अत्यधिक सूजन आना (swelling of the intestines)
  • लीवर रोग (liver disease)

 

घरेलू समाधान (Home Remedies for Ulcerative Colitis)

Home Remedies for Ulcerative Colitis

 

  • बेल का मुरब्बा खाये (eat bel marmalade)
  • दो रसगुल्ले सुबह और दो शाम को खाये (eat two rasgullas in the morning and two in the evening)
  • गोंद के तिरे के चार दाने रात को भिगो दे सुबह पानी को छान कर फेंक दे और गोद के तिरे को धागे वाली मिश्री के साथ खाए। (soak four pieces of gum at night, filter the water in the morning and throw it and eat the end of the lap with sugar candy.)
  • पेट पर गरम ठंडा सेक करे (hot and cold compress on stomach)
  • नारियल पानी मे चीया सीड 5-10 मिनट भिगोकर पिए (soak chia seeds in coconut water for 5-10 minutes and drink)
  • सफेद पेठे का ज्यूस पिए (drink white petha juice)

 

निष्कर्ष (Conclusion):

हमारी बिमारियों का सबसे बड़ा कारण ही हमारा खानपान और जीवनशैली है। आज कल बाजार में जिस तरह की खाने पीने की चीज़ें मिलती है वो खाने में तो बड़ी स्वादिष्ट और अच्छी लगती है पर इसी के साथ वह हमारे शरीर में कई तरह की बिमारियों के लिए रास्ते खोल देती है। वैसे तो यह बीमारियां एकदम से नहीं आती इन्हे आने में वक़्त लगता है। जैसे जैसे हम खराब खानपान और आलस्य से भर जाते है वैसे वैसे यह बीमारियां अपनी पैर फैलाती है। और इन्ही में से एक बीमारी है आँतों की सूजन (Ulcerative Coilitis)। जिसके कारण हम कई तरह की तकलीफों से गुज़रते है। और जिन खाने पीने की चीज़ों से हमें लगाव होता है वो भी हम नहीं खा पाते। लेकिन इससे डरने की ज़रुरत नहीं क्योंकि Kayakalya Nature Cure Udaipur पर इसका सफल और दवा-रहित इलाज उपलब्ध है। Ayurvedic / Naturopathy Treatment in Udaipur की मदद से इससे छुटकारा मिल सकता है। 

इसलिए हमेशा अपने खाने पीने और जीने के तरीको पर ध्यान से और अधिक से अधिक व्यायाम और पौष्टिक चीज़ों का सेवन करें। जिससे वक़्त आने पर आप कभी कभार अपनी मनपसंद व्यंजनों का आनंद उठा सके।

Leave a Reply